Saturday, April 20, 2024
Homeवेब सिरीज़ओटीटी पर गली-गलौज और अश्लीलता को बढ़ावा देने वालों की अब खैर...

ओटीटी पर गली-गलौज और अश्लीलता को बढ़ावा देने वालों की अब खैर नहीं, अनुराग ठाकुर ने चेतावनी दी थी


ओटीटी प्लेटफॉर्म पर प्रसारित सामग्री के खिलाफ शिकायत पर सख्त रुख अपनाते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने रविवार को कहा कि क्रिएटिविटी के नाम पर अश्लीलता और अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं किया जाता है और सरकार इस प्रवृत्ति को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करने में नहीं संस्कृती। यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संदेश देते हुए ठाकुर ने कहा कि सरकार ने ओटीटी प्लेटफॉर्मों पर प्रसारित सामग्री में अश्लीलता और अभद्र भाषा के उपयोग से संबंधित पर ग्रेविटर से विचार किया है।

उन्होंने कहा, ”इन मंचों की रचनात्मकता के लिए स्वतंत्रता दी गई है ना कि किसी विषाद के लिए। जब कोई सीमा पार कर जाती है, तब दृश्यता के नाम की गालियों को स्वीकार नहीं किया जा सकता है।” मंत्री ने कहा, ”किसी भी स्थिति में परिवर्तन करने की आवश्यकता है, तो सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय खतरा नहीं करेगा। यह अश्लीलता और अभद्र भाषा का प्रयोग रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई करेगा।”


ठाकुर ठाकुर ने ओट्टी पर कही ये बात

ठाकुर ने वीडियो पोस्ट करते हुए ट्विटर पर लिखा-रचनात्मकता के नाम पर गली गलौज, भ्रमता प्रदान नहीं किया जा सकता है। ओटीटी पर जारी जहरीली सामग्री की शिकायत पर सरकार गंभीर है। अगर इसकी लेकर स्थिति में कोई बदलाव करने की अटकी है तो @ MIB_India उस दिशा में भी पीछे नहीं हटेगा। विषता, गली गलौज रोकने के लिए कड़ी कार्यवाई करेगी।
लोकप्रिय वेब सीरीज: फाइव पॉपुलर हिंदी वेब सीरीज, एक दिन देश में है तगड़ी मांग, अब तक नहीं देखीं तो देख डालिए

ओटीटी सामग्री को लेकर दो मत

कोरोना काल के बाद से लगातार ओटीटी पर देखे जाने वाले दर्शकों की संख्या दी जाती है। ओटीटी अभी सेंसर बोर्ड जैसे बंधनों से मुक्त है। ऐसे में धुंधले से बोल्ड सीन लेकर गली गलौच के सीन्स वेब सीरीज और फिल्में यहां मौजूद हैं। इसी को लेकर दो मत देखे जाते हैं। कुछ स्टार्स न्यूज का कहना है कि कुछ प्लेटफॉर्म को क्रिएटिविटी के लिए आजाद रखा जाना चाहिए। जहां कोई सीमा नहीं होनी चाहिए। फिल्मों में सेंसर की स्कैन्स पर कई बार विवाद भी होते रहते हैं। वहीं दूसरा पक्ष यह भी है कि ओटीटी पर क्रिएटिविटी की आड़ में झटकों से गलियारों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसका सीधा सीधा समाज पर बुरा प्रभाव पड़ता है।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments